Subscribe Us

भारत में इंटरनेट सर्विस को बैन कैसे किया जाता है How Government BAN Internet Service in India

नमस्कार दोस्तों नॉलेज अड्डा डॉट इन में आपका स्वागत है। दोस्तों आज हम थोड़ा अलग टॉपिक पे बात करने वाले है। दोस्तों आपको पता ही होगा की जब भी हमारे देश में किसी प्रकार के इमरजेंसी को लागु किया जाता है या धारा 144 लागु किया जाता है तो फ़ोन कॉल्स और इंटरनेट सर्विस को बंद कर दिया जाता है। पर क्या आपने कभी सोचा है की भारत सरकार के पास ऐसे क्या अधिकार होते है जिसका उपयोग करके वो, टेलीकॉम कंपनी को किसी निश्चित क्षेत्र में कॉल्स या इंटरनेट बंद करने को बोलते है। आज के इस आर्टिकल के माध्यम से मैं आपको इन चीजों के बारे में बताऊंगा
knowledge-adda.in
इंटरनेट सर्विस

भारत में इंटरनेट सर्विस को बैन कैसे किया जाता है

दोस्तों आपके जानकारी के लिए बता दू, भारत सरकार ने 2019 में 105 बार इंटरनेट को बैन किया। ऐसा क्यों किया गया इसके पीछे कुछ बड़ा कारण हो सकता है। जैसे उदहारण के लिए बताऊ तो जम्मू कश्मीर में धारा 370 के हटाने से पहले इंटरनेट को बैन कर दिया ऐसे ही बहुत सारे रीज़न हो सकते है। अब मैं आपको बताता हूँ आखिर किस नियमों का प्रयोग करके इंटरनेट बंद किया जाता हैं। दोस्तों भारत में ऐसे 3 नियम है जिसका प्रयोग करके एक निश्चित क्षेत्र में या पुरे भारत में इंटरनेट को बंद किया जाता है।
  1. SECTION 144
  2. TEMPORARY SUSPENSION TELECOM SERVICES 2017
  3. THE INDIAN TELEGRAPH ACT
यहाँ पर 2 लेवल पर इंटरनेट सर्विस को बंद किया जाता है पहला सेंट्रल लेवल और दूसरा स्टेट लेवल 

मिनिस्ट्री ऑफ़ होम अफेयर्स द्वारा इन तीनो नियमो में से किसी एक का प्रयोग करके एक नोटिस जारी किया जाता है, इस नोटिस को एक रिव्यु कमेटी को दिया जाता है वहां पर अप्प्रूव होने के बाद उस नोटिस को हमारे ISP (इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर) के पास भेजा जाता है आर्डर मिलते ही वे अपने सॉफ्टवेर में उस लोकेशन को ऐड कर देते है जहाँ का इंटरनेट बंद करना हो। 

आखिर ये काम कैसे करता हैं

मैं उम्मीद करता हूँ की मैंने आपको अभी तक जो भी बताया वो सभी चीजे आपको समझ में आ गयी है, अब मैं आपको बताता हूँ आखिर ये काम कैसे करता हैं। हमारे देश में बहुत सारी टेलीकॉम कंपनी है जो हमें इंटरनेट बेचती है और हम पैसे दे के उसका प्रयोग करते है।
उस इंटरनेट का उपयोग हम अलग अलग एप्लीकेशन या किसी भी तरह के वेबसाइट को एक्सेस करने के लिए करते है। हम जो भी वेबसाइट को एक्सेस करना चाहते है वे सभी किसी न किसी सर्वर से कनेक्ट होते है, और उसका स्टोरेज इंडिया में भी हो सकता है या इंडिया से बाहर भी हो सकता है। ये जो इंटरनेट प्रोवाइडर होते है, वो हमें उस चीज तक ले जाने या उसको एक्सेस करने में एक रूट प्रदान करते है या सिंपल लैंग्वेज में बोलू तो एक रास्ता देते है जिसके द्वारा हम उस चीज के पास जा पाते है जो हमने सर्च किया है।  

इंटरनेट सर्विस बंद कैसे करते है 

अभी मैंने आपको बताया की ये काम कैसे करता है अब आपको बताने जा रहा हूँ की आखिर इसको बंद कैसे करते है। जैसे ही सरकार द्वारा किसी लोकेशन या किसी स्टेट में इंटरनेट बंद करने का निर्देश दिया जाता है, टेलीकॉम कंपनी क्या करती है उस निश्चित क्षेत्र या स्टेट के लोकेशन को अपने सिस्टम या सॉफ्टवेर में अपडेट कर देती है इससे क्या होता है की जब भी कोई उस एक एरिया से रिलेटेड लोग इंटरनेट चलाएंगे उनके स्क्रीन पर वही शो होगा जो टेलीकॉम कंपनी चाहेंगी। कुल मिला के आप इंटरनेट नहीं चला पाओगे। 

इसके पीछे का कारण है इंटरनेट का एक्सेस रोक देना। 

जैसा की मैंने आपको ऊपर बताया है की ये जो इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर होते है वे सभी आपको एक रूट देते है जिससे की आप किसी वेबसाइट को एक्सेस करते हो, पर इंटरनेट बंद होने के बाद आपका रास्ता ब्लॉक हो जाता है और आप जो भी सर्च करते हो वो आपके एरिया तक ही रह जाता है और इस वजह से आपका इंटरनेट नहीं चल पता। 

क्या VPN लगा के इंटरनेट एक्सेस कर सकते है 

इस के बाद बहुत लोगो के मन में ऐसा ख्याल आया होगा की हम अपने लोकेशन को VPN (विर्तुअल प्राइवेट नेटवर्क) लगा के चेंज करके इंटरनेट का प्रयोग कर लेंगे। यहाँ पर दोस्तों मैं आपको ये बता दूँ की आखिर VPN काम कैसे करता है। जब भी आप VPN कनेक्ट करते हो और जिस भी लोकेशन को ऐड करते हो, उदहारण के लिए मान लो मैं हरियाणा में हूँ और VPN में मैंने जर्मनी का लोकेशन ऐड किया है तो मुझे इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर द्वारा एक रास्ता मिलेगा जो जर्मनी के सर्वर से कनेक्ट होगा और मेरा लोकेशन जर्मनी का शो होगा। मैं अगर यूट्यूब के होमपेज को ओपन करूंगा तो मुझे वही शो होगा जो जर्मनी के लोगो को शो हो रहा है। मेरे सामने वही advertisement शो होगा जो जर्मनी में सर्व हो रहा है। पर ऐसा तभी होगा जब आपको टेलीकॉम ऑपरेटर द्वारा रूट दिया जाये या किसी भी चीज को एक्सेस करने का परमिशन दिया जाये।
अगर आपके एरिया में इंटरनेट बंद है तो आप VPN कनेक्ट ही नहीं कर पाओगे क्योकि आपको जर्मनी के सर्वर को एक्सेस करने का रूट ही नहीं दिया जायेगा। क्योकि आपके पुरे एरिया का इंटरनेट बंद है यानि रास्ता को ब्लॉक किया हुआ है। 

तो दोस्तों आशा करता हूँ की आपको मेरा ये आर्टिकल पसंद आया होगा। अगर आप मुझे कुछ लिखना चाहते है तो कांटेक्ट फोरम में लिख के भेजे। आप मेरे साथ सोशल साइट्स पर जुड़ने के लिए सोशल प्लगिन में जाये और मुझे फॉलो करें। धन्यवाद

Post a Comment

2 Comments

  1. Its very knowledgeable article

    ReplyDelete
  2. I don't know about this.vary useful knowledge.keep it up dude

    ReplyDelete